AYUSH Ka Full Form – AYUSH क्या है और इसका उद्देश्य क्या है?

Spread the love

आज मैं आपको ‘आयुष’ से रिलेटेड सभी जानकारी बताने वाला हूँ, ayush ka full form, ayush full form in hindi, ayush mantralaya kya hai,  ayush का मुख्य उद्देश्य, ayush का मुख्य कार्य, इत्यादि।

आपमें से कई लोगो ने ‘आयुष मंत्रालय’ का नाम जरूर सुना होगा जो भारत सरकार द्वारा स्वास्थ से संबंधित सभी चीज़ों के विकास पर ध्यान देने के लिए बनाया है।

आपने इसका नाम न्यूज़ पर सुना होगा या न्यूज़ पेपर में पढ़ा होगा लेकिन आपमें से ज्यादातर लोगों को ‘Ayush’ का फुल फॉर्म नहीं पता होगा और न ही आपको इसके बारे में पूरी जानकारी होगी।

अगर आप भी भारत सरकार के द्वारा शुरू की गयी ‘आयुष’ के बारे से कुछ नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं क्यूंकि आज मैं आपको से ‘आयुष’ से जुड़ी सारी जानकारी बताने वाला हूँ।

इसलिए आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आपको आयुष के बारे में सारी जानकारी अच्छे से पता चल सकें।

AYUSH Ka Full Form

AYUSH Ka Full Form क्या होता है?

AYUSH का फुल फॉर्म Ayurveda, Yoga & Naturopathy, Unani, Siddha & Homoeopathy‘ होता है।

AYUSH Full Form In Hindi –

आयुष को हिंदी में ‘आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी’ बोला जाता है।

AYUSH क्या है? (AYUSH in Hindi) 

आयुष भारत सरकार का एक मंत्रालय है, जो भारत में स्वदेशी और वैकल्पिक चिकित्सा प्रणालियों की शिक्षा, अनुसंधान और प्रसार के विकास के लिए काम करती है।

AYUSH को पहले भारतीय चिकित्सा और होम्योपैथी विभाग आईएसएम और एच विभाग के रूप मे जाना जाता था लेकिन बाद में इसका नाम बदलकर आयुष रख दिया।

आयुर्वेद योग और प्राकृतिक चिकित्सा यूनानी सिद्ध और होम्योपैथी मे शिक्षा और अनुसंधान के विकास पर अधिक जोर देने के लिए नवंबर 2003 मे इसका नाम बदलकर आयुष रखा गया था।

अभी के समय आयुष, मंत्रालय के अधीन है जिसे 9 नवंबर 2014 को स्थापित किया गया था। इसका मुख्यालय नई दिल्ली है और अभी वर्तमान में सर्बानंदा सोनोवाल AYUSH है।

AYUSH का मुख्य उद्देश्य क्या है?

आयुष का मुख्य उद्देश्य कुछ इस प्रकार हैं –

  • भारत मे इंडियन सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन और होम्योपैथी कॉलेजों के शैक्षणिक मानक मे सुधार और उन्नयन करना है।
  • भारतीय सिस्टम्स ऑफ मेडिसिन और होम्योपैथी दवाओं के लिए फार्माकोपियल मानको को विकसित करता है।
  • योग और आयुर्वेद की शैक्षिक प्रणालियों को मजबूत करने और गुणवत्ता नियंत्रण की सुविधाओं को प्राप्त करवाना है।

AYUSH का मुख्य कार्य क्या है?

  • आयुष मंत्रालय का कार्य राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों और सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यक्रमों के कार्यान्वयन को मजबूत बनाना है।
  • आयुष का कार्य पूरी दुनिया में सिद्ध चिकित्सा प्रणाली के विकास को बढ़ावा देना है।
  • आयुष मंत्रालय सिद्ध चिकित्सा के क्षेत्र में विभिन्न पहलुओं पर अनुसंधान को बढ़ावा देता है।
  • अलग-अलग सुविधाओं की कार्यक्षमता को सुदृढ़ करता है।
  • यूनानी, सिद्ध और आयुर्वेद की शैक्षिक प्रणालियों को मजबूत करने और गुणवत्ता नियंत्रण की सुविधाओं के लिए काम करता है।
  • आयुष अस्पतालों और औषधालयों को अपग्रेड करके उनकी पहुंच सभी जगह करता है और लागत प्रभावी सेवाओं के माध्यम से आयुष चिकित्सा प्रणालियों को बढ़ावा देता है।

AYUSH मंत्रालय का अनुसंधान परिषद (Research councils)

  • CCRAS – सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन आयुर्वेद साइंस
  • CCRYN – सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन योगा एंड नेचुरोपैथी
  • CCRUM – सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन युनानी मेडिसिन
  • CCRS – सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन सिद्ध
  • CCRH – सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन होम्योपैथी

Read Also –

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)-

Q. AYUSH का फुल फॉर्म क्या है?

Ans: Ayurveda, Yoga & Naturopathy, Unani, Siddha & Homoeopathy

Q. AYUSH की शुरुआत कब हुयी थी?

Ans: आयुष की शुरुआत 2003 में हुयी थी।

Q. आयुष का मुख्यालय कहाँ स्थित है?

Ans: आयुष का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

Q. अभी वर्तमान में आयुष मंत्री कौन है?

Ans: सर्बानंदा सोनोवाल

आज आपने क्या सीखा –

आज के इस पोस्ट में हमनें AYUSH के बारे में बहुत कुछ जाना हैं, जैसे AYUSH ka full form, Ayush meaning in hindi, Ayush full form in hindi, Ayush in hindi, AYUSH का मुख्य उद्देश्य, AYUSH का मुख्य कार्य, इत्यादि।

मुझे उम्मीद है की इस article में बताये गए AYUSH से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और अब आपको AYUSH के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो आप नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस पोस्ट से कुछ नई जानकारी सिखने को मिली हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Comment