ITR Full Form In Hindi – ITR के बारे में पूरी जानकारी 2022

Spread the love

आपमें से ज्यादातर लोगों ने ITR का नाम सुना होगा और आपमें से ही कई लोग आईटीआर फाइल भी भरते होंगे। लेकिन क्या जानते हैं की ‘ITR full form in hindi’ क्या होता है?

जैसा की आप सभी को पता ही होगा की अगर हमारी कमाई होती है तो उसके बदले आपको टैक्स भरना पड़ता है। जो टैक्स हमारे द्वारा भरा जाता है उसे आईटीआर फाइल के नाम से जाना जाता है और ये टैक्स आपको 31 जुलाई तक भरना होता है।

मैं आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहता हूँ की टैक्स कई प्रकार के होते हैं और टैक्स भरने वाले व्यक्ति भी इनकम टैक्स स्लैब के अनुसार अलग-अलग टैक्स भरते हैं।

अगर आपको भी नहीं पता है की आईटीआर (ITR) का फुल फॉर्म क्या होता है और अगर आप आईटीआर के बारे में सभी जानकारी के लिए ही हमारे पोस्ट पर आये हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर आए हैं।

आज के इस आर्टिकल में आपको ITR से रिलेटेड बहुत कुछ सीखने को मिलने वाला है जैसे – ITR Ka Full Form, ITR full form in hindi, आईटीआर के प्रकार, आईटीआर फाइल कैसे करें, आईटीआर भरने के फायदे, आदि।

अगर आप इस ITR से रिलेटेड सारी जानकारी जानने के लिए हमारे ब्लॉग पर आए हैं तो आप हमारे द्वारा लिखे इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए ताकि आपको भी इसके बारे में सब कुछ अच्छे से पता चल सकें।

ITR Full Form In Hindi

ITR Ka Full Form –

ITR का फुल फॉर्म ‘Income TAX Return‘ होता है।

I – Income

T – TAX

R – Return

ITR Full Form In Hindi –

ITR का फुल फॉर्म हिंदी में ‘आय कर रिटर्न‘ होता है।

I – Income (आय)

T – TAX (कर)

R – Return (रिटर्न)

ITR क्या होता है? (ITR Kya hota hai)

सभी व्यक्ति के आमदनी पर लगने वाला टैक्स को ही आयकर रिटर्न (Income Tax Return) कहते हैं। सरकार आयकर से होने वाली कमाई को अपनी गतिविधियों और जनता को सुविधा और सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए इस्तेमाल करती है।

आईटीआर के अंदर 7 प्रकार के फॉर्म आते हैं जिनमें ITR 1, ITR 2, ITR 3, ITR 4, ITR 5, ITR 6 और ITR 7 शामिल होते हैं। इस आईटीआर फॉर्म को सभी व्यक्ति अपनी आमदनी अनुसार अलग अलग फॉर्म भरते हैं।

आईटीआर उन सभी व्यक्ति को भरना पड़ता है जिनकी कमाई साल में 2 लाख 50 हज़ार से ऊपर होती है। आईटीआर साल में एक बार भरना होता है और इसे भरने की अंतिम तारीख 31 जुलाई होती है।

ITR Meaning in Hindi

ITR का मतलब इंग्लिश में ‘Income TAX Return‘ होता है और इसे हिंदी में आय कर रिटर्न के नाम से जाना जाता है। ITR एक प्राकर का टैक्स होता है जिसे सरकार के द्वारा हर उस व्यक्ति से लिया जाता है जो किसी भी तरह से कमाई कर रहा है।

आईटीआर के प्रकार

आईटीआर के कुल 7 प्रकार होते हैं। आईटीआर के प्रकार हर टैक्स भरने वाले व्यक्ति के लिए अलग-अलग होते हैं।

आईटीआर के अंदर कुल 7 फॉर्म आते हैं और ये सभी अलग-अलग व्यक्ति के आय के अनुसार अलग-अलग होते हैं।

अब आइए आईटीआर के सभी प्रकार को एक एक करके विस्तार से जानते हैं –

1. ITR 1 –

आइटीआर 1 फॉर्म को सहज के नाम से भी जाना जाता है। यह ITR फॉर्म उनके लिए है, जिनकी कुल आय 50 लाख रुपये तक होती है। यह फॉर्म उनके द्वारा भरा जाता है जिनकी आय केवल वेतन, हाउस प्रॉपर्टी या ब्याज के जरिए होती है।

2. ITR 2

ITR 2 फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए है, जिन्हे इनकम तो होती है लेकिन किसी बिजनेस या पेशे से कोई लाभ नहीं होता है। ITR 2 फॉर्म उनके लिए है जो ITR 1 फॉर्म को भरने के लिए योग्य नहीं हैं।

3. ITR 3

ITR 3 फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए है, जिनको बिजनेस या अपने किसी प्रोफेशन के प्रॉफिट से इनकम होती हो।

4. ITR 4 

ITR 4 फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए है, जो इंडिविजुअल और HUF (हिंदू अविभाजित परिवार) हैं। जो व्यक्ति बिजनस, प्रोफेशन (डॉक्टर, वकील आदि) के जरिए आमदनी करता हो, उन्हें यह फॉर्म भरना होता है।

5. ITR 5 –

ITR 5 फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए है जो हिंदू उंडिवाइडेड फैमिली से हैं और ITR-7 फाइल करने वाले व्यक्तियों के लिए हैं। आईटीआर 5 उन संस्थाओं के लिए भी है, जिन्होंने खुद को फर्म, LLPs, AOPs, BOIs के रूप में रजिस्टर्ड करा रखा है।

6. ITR 6

ITR 6 फॉर्म उन कंपनियों के लिए है जो इनकम टैक्स एक्ट की धारा 11 के तहत छूट नहीं मिलता है। आईटीआर 6 फॉर्म आप ऑनलाइन भी भर सकते हैं।

7. ITR 7 –

ITR 7 फॉर्म उन लोगों या कंपनियों के लिए है, जो सेक्शन 139(4A) या सेक्शन 139(4B) या सेक्शन 139(4C) या सेक्शन 139(4D) के तहत रिटर्न फाइल करते हैं।

आईटीआर भरने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

आईटीआर भरने के लिए आवश्यक दस्तावेज कुछ इस प्रकार हैं –

  • पैन कार्ड
  • सैलरी पे स्लिप
  • बैंक डिटेल्स
  • फॉर्म 26as
  • फॉर्म 16 ऐ, 16 बी, 16 सी
  • टीडीएस सर्टिफिकेट
  • इंटरेस्ट सर्टिफिकेट
  • कर बचत निवेश का प्रमाण पत्र

आईटीआर फाइल कैसे करें?

आईटीआर फाइल आप खुद से भी कर सकते हैं और एक बार सीख लेने के बाद बहुत आसान हो जाता है। मैंने आपको निचे एक एक करके सारे स्टेप बताए हैं जिनकी मदद से आप खुद से भी आईटीआर फाइल कर सकते हैं।

  • इनकम टैक्स फाइल करने के लिए आपको सबसे पहले ईफाइलिंग पोर्टल के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको ITR Return Preparation के विकल्प देखने को मिलेगा उसपर आपको क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको मैन्यू के विकल्प में जाना होगा।
  • मैन्यू के अंदर आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • डाउनलोड करने के बाद आपसे पूछी गई सभी जानकारी को अच्छे से भरनी है।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आप वैलिडेट करें की विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आप गणना करें की विकल्प पर क्लिक करें।
  • इस प्रकार आप इसको जनरेट कर सेव कर सकते हैं।
  • इनकम टैक्स द्वारा आपकी इनकम फॉर एनालाइज किया जाता है और गलती आने पर कार्यवाही की जाती है।

आईटीआर भरने के फायदे

आईटीआर भरने के कई फायदें हैं जिनमें से कुछ फायदे इस प्रकार हैं –

  • अगर नियमित तौर पर आईटीआर भरा जाए तो आपको बैंक से लोन बहुत ही आसानी से मिल जाता है।
  • किसी भी सरकारी विभाग में कॉन्ट्रैक्ट प्राप्त करने के लिए आपको पिछले 5 सालों का ITR देना पड़ता है।
  • अगर आप किसी भी बीमा कंपनी से एक करोड़ रुपए का बीमा कवर लेना चाहते हैं तो आपको ITR देना पड़ेगा।
  • अगर कोई व्यक्ति विदेश जाना जाते हैं तो कई ऐसे देश हैं जो 3 से 5 साल तक का इनकम टैक्स रिटर्न चेक करती हैं ताकि उस व्यक्ति का फाइनेंशियल स्टेटस अच्छा हो।
  • अगर आप अपना टैक्स रिफंड का क्लेम करते हैं तो इसके लिए भी आपको ITR दाखिल करना जरूरी होता है।

FAQs: ITR Full Form In Hindi

Q: ITR meaning in Marathi 

Ans: आयकर परतावा

Q: ITR meaning in Tamil

Ans: வருமான வரி

Q: ITR meaning in Telugu 

Ans: ఆదాయపు పన్ను రిటర్న్

Q: ITR कब भरा जाता है?

Ans: ITR भरने की आखिरी तारीख 31 जुलाई तक होती है।

Q: ITR कौन भर सकता है?

Ans: ITR वे सभी व्यक्ति भर सकते हैं, जिनकी कमाई साल भर में 2.50 लाख से ज्यादा होती है।

Q: वार्षिक वर्ष 2022-23 के लिए आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तिथि क्या है?

Ans: वर्ष 2022-23 के लिए आईटीआर दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई 2022 है।

Q: ITR फॉर्म कितने प्रकार के होते हैं?

Ans: ITR फॉर्म कुल 7 प्रकार के होते हैं जिनमें ITR 1 से लेकर ITR 7 तक शामिल होता है।

Q: क्या अंतिम तिथि के बाद आईटीआर दाखिल किया जा सकता है?

Ans: हाँ बिल्कुल, अंतिम तिथि के बाद भी आईटीआर दाखिल किया जा सकता है लेकिन इसमें आपको कुछ पेनालिटी भी देना पड़ जाएगा।

आज आपने क्या सीखा –

आज के इस आर्टिकल में हमनें ITR के बारे में बहुत कुछ जाना हैं, हमने ITR ka full form,ITR meaning in hindi, ITR full form in hindi, ITR kya hota hai, आईटीआर के प्रकार, आईटीआर फाइल कैसे करें, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बताये गए ITR से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और अब आपको ITR के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे ITR से सम्बंधित कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो आप नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस आर्टिकल से कुछ नई जानकारी प्राप्त हुई हो तो आप अपने सोशल मीडिया और दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इसी तरह की और जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस ब्लॉग Fullformcollection.com पर हर दिन visit करते रहें।

Read Also –

Leave a Comment