JEE Full Form In Hindi – JEE का full form क्या होता है?

क्या आप JEE का full form जानते हैं? अगर नहीं तो कोई बात नहीं क्यूंकि आज मैं आपको JEE full form, JEE क्या है, JEE कितने प्रकार के होते हैं, JEE का एग्जाम पैटर्न और सिलेबस क्या है, इत्यादि के बारे में बताने वाला हूँ।

आपने JEE के बारे में बहुत बार सुना होगा और आपमें से कई लोग JEE के exams भी दिए होंगे लेकिन आपमें से कई लोग ऐसे होंगे जो JEE के बारे में सब कुछ नहीं जानते होंगे।

अगर आप JEE  के बारे में सब कुछ जानना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही जगह आये हैं क्यूंकि यहाँ पर आपको JEE से संबंधित सारी जानकारी मिलने वाली हैं।

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके मन में JEE से संबंधित जितने भी सवाल होंगे उनके जवाब मिल जाएंगे, इसलिए आप इस पोस्ट को शरू से लेकर अंत तक पढ़िए।

तो चलिए अब जानते हैं की JEE की फुल फॉर्म क्या है, JEE क्या है, और JEE से संबंधित सारी जानकारियाँ।

JEE Full Form

JEE Ka Full Form (जेईई का फुल फॉर्म):-

जेईई का फुल फार्म “Joint Entrance Examination है। JEE को हिंदी में “संयुक्त प्रवेश परीक्षा” कहा जाता है।

JEE Full Form In English :-

JEE का full form “Joint Entrance Examination” होता है।

J – Joint

E – Entrance

E – Examination

JEE Full Form In Hindi :-

अब आपको JEE का फुल फॉर्म इंग्लिश में तो पता चल गया होगा, तो चलिए अब इसका फुल फॉर्म हिंदी में भी जान लेते हैं।

JEE का फुल फॉर्म हिंदी में “संयुक्त प्रवेश परीक्षा” होता है।

J – Joint (संयुक्त)

E – Entrance (प्रवेश)

E – Examination (परीक्षा)

JEE क्या है :-

Joint Entrance Examination एक प्रकार की एग्जाम होती है जिसे NTA(National Testing Agency) द्वारा conduct करवाया जाता है और यह एग्जाम engineering colleges में एडमिशन के लिए आयोजित की जाती है।

JEE की परीक्षा पुरे भारत में दो चरणों में होती हैं एक JEE Main और दूसरा JEE Advanced और आप इन दोनों में से किसी एक एग्जाम के cut off को clear करने के बाद ही इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश ले सकते हैं।

अगर आप Jee main एग्जाम में पास होते हैं तो आगे आप Jee advance के एग्जाम देने के लिए भी योग्य होते हैं और जब आप Jee advance के एग्जाम में भी पास हो जाते हैं तो आप IIT colleges में प्रवेश ले सकते हैं।

लेकिन अगर आप JEE main एग्जाम में पास हो जाते हैं मगर JEE advance के एग्जाम में पास नहीं हो पाते हैं तो आप NIT colleges में एडमिशन ले सकते हैं।

JEE main आपको NIT और JEE advance आपको IIT इंजीनियरिंग कॉलेज से 4 साल की B. Tech course करने की सुविधा प्रदान करती हैं।

JEE के प्रकार :-

JEE के exam मुख्य रूप से दो भागों में होते हैं :

  1. जेईई-मेन
  2. जेईई-एडवांस

Jee Main :-

जेईई-मेन एक राष्ट्रीय स्तर की इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा है, जो आपको 4 साल के लिए B. Tech यानी की इंजीनियरिंग कोर्स NIT colleges से करने की सुविधा प्रदान करवाई जाती है।

इस परीक्षा के द्वारा हम टॉप लेवल के गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेजों NIT या फिर किसी अच्छे प्राइवेट कॉलेजेस में एडमिशन करवा सकते हैं और B. Tech की पढ़ाई कर सकते हैं।

अगर आपको इन एग्जाम के द्वारा अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज चाहिए तो आपको Jee main के exam में अच्छे नंबर से पास होना होगा और आपकी रैंक भी अच्छी होनी चाहिए।

Jee Advance :-

जेईई-एडवांस भी JEE main के तरह ही इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा होती है, इसमें आपको 4 साल के लिए B.Tech course IIT colleges से करने की सुविधा प्रदान करवाई जाती हैं।

यह परीक्षा जेईई-मेन की तुलना में बहुत ही ज्यादा कठिन होती है और इस एग्जाम को देने के लिए आपको पहले Jee Main के एग्जाम में पास करना होता है।

JEE Advance की प्रवेश परीक्षा भारत में सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती हैं क्यूंकि इस एग्जाम को देने से पहले आपको JEE Main के एग्जाम में पास करना होता है।

JEE-Advance के एग्जाम को पास कर लेने के बाद आपको इंजीनियरिंग करने के लिए भारत के सबसे प्रसिद्ध IIT colleges में प्रवेश दिया जाता है।

जेईई-एडवांस की परीक्षा IIT-Council के द्वारा ही कराई जाती है और इस एग्जाम के प्रश्न पत्र हर साल अलग-अलग आईआईटी कॉलेजों द्वारा तैयार किए जाते हैं।

JEE Main & JEE Advance के लिए योग्यता :-

  1. JEE Main परीक्षा देने के लिये योग्यता :-

इस परीक्षा को देने के लिए जिन योग्यता की जरुरत होती हैं, वह कुछ इस प्रकार से हैं :

  • इस exam को देने के लिए आपको class 12th में होना जरुरी है.
  • आपका class 12th में science और Math विषय होना जरुरी है.

2. JEE Advance परीक्षा देने के लिये योग्यता :-

JEE Advance परीक्षा देने के लिए जिन योग्यता की जरुरत होती हैं, वह कुछ इस प्रकार हैं :

  • ये exam देने के लिए आपको JEE Main के एग्जाम में पास होना जरुरी हैं तभी आप JEE Advance के एग्जाम दे सकते हैं.
  • JEE Advance की परीक्षा देने के लिए आपको class 12th में पास करना जरुरी हैं.

##इसे भी जरूर पढ़े :-

JEE Exam Patterns :-

Joint Entrance Examination दो भाग में होते हैं (JEE Main & JEE Advance)और दोनों एग्जाम के patterns बिलकुल ही अलग होते हैं।

तो चलिए अब देखते हैं की इन exams के पैटर्न किस तरह के होते हैं और इन दोनों JEE के exams में से किसका pattern आसान होता है।

JEE Main Exam Pattern :-

NTA ने 2020 में JEE-Main एग्जाम के पुराने पैटर्न को बदल कर नए पैटर्न तैयार किया है और इसमें बहुत सारे बदलाव किये हैं।

तो चलिए अब देखते हैं की Jee-Main के नए पैटर्न किस प्रकार से बनाये गए हैं :

  • इस JEE Main exam पैटर्न में दो पेपर को शामिल किया गया है paper-1 B. Tech के लिए और paper-2 B. Arch और B. Planning के लिए.
  • JEE Main के एग्जाम में कुल 90 प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें से आपको 75 प्रश्न के जवाब देने होते हैं. इस 90 प्रश्न में से 60 प्रश्न objective आते हैं और 30 प्रश्न numerical आते हैं और इसमें से आपको 15 प्रश्न ही करना होता है.
  • इस एग्जाम में 3 विषय Physics, Chemistry, and Mathematics से प्रश्न आते हैं.
  • JEE Main का एग्जाम कंप्यूटर आधारित परीक्षण मोड में होते हैं और एग्जाम 3 घंटे तक की होती है.
  • इस एग्जाम कुल मिलाकर 300 नंबर की होती हैं और इसमें हर एक objective और numerical प्रश्न सही होने पे 4 नंबर दिए जाते हैं.

JEE Advance Exam Pattern :-

  • JEE Advanced के परीक्षा दो भाग में होते हैं, जिनमें से प्रत्येक 3 घंटे तक की अवधि का होता है. प्रत्येक प्रश्न पत्र में Physics, Chemistry और Mathematics पर सवाल पूछे जाते हैं।
  • इस परीक्षा में भी Objective Type प्रश्न के साथ numerical प्रश्न भी शामिल होते हैं, और इस परीक्षा की कुल अंक हर साल अलग-अलग होते हैं।
  • इस परीक्षा में question number भी तय नहीं होती है जिस वजह से हर साल अलग-अलग प्रश्न की संख्या पूछे जाते हैं।

JEE Exam Syllabus :-

जेईई-मेन और जेईई-एडवांस परीक्षा के सिलेबस कुछ इस प्रकार से हैं :

JEE Main परीक्षा का सिलेबस :-

जेईई-मेन के परीक्षा में Physics, Chemistry, Mathematics के प्रश्न शामिल होते हैं और यह परीक्षा 12th बोर्ड के NCERT level से थोड़ा कठिन होता है।

JEE Advanced परीक्षा का सिलेबस :-

JEE Advanced के परीक्षा में Physics, Chemistry, Mathematics के प्रश्न शामिल होते हैं और इसकी परीक्षा JEE Main की तुलना में बहुत ज्यादा कठिन होती हैं।

निष्कर्ष :

आज के इस post में हमनें JEE के बारे में बहुत कुछ जाना हैं, हमने JEE का Full Form क्या है, JEE क्या है, JEE कितने प्रकार के होते हैं, JEE का एग्जाम पैटर्न और सिलेबस क्या है, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस article में बताये गए JEE से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और आपको JEE के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे JEE से सम्बंधित कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो आप नीचे comment सेक्शन में पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस article से कुछ नई जानकारी प्राप्त हुई हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इसी तरह की और जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस ब्लॉग Fullformcollection.com पर हर दिन visit करते रहें।

2 thoughts on “JEE Full Form In Hindi – JEE का full form क्या होता है?”

Leave a Comment