MMS का Full Form क्या है? – MMS Full Form In Hindi

आज के इस पोस्ट में आपको MMS full formFull Form Of MMS, MMS क्या है, MMS In Hindi, MMS का उपयोग, इत्यादि के बारे में जानकारी देखने को मिलेगी।

अगर आप स्मार्ट फ़ोन, लैपटॉप, टेबलेट, आदि जैसे डिवाइस का इस्तेमाल करते हैं तो आपने कई बार MMS का इस्तेमाल जरूर किया होगा लेकिन फिर भी आपमें से कई लोगो को इसके बारे में अच्छे से पता नहीं होगा।

आज के समय में आप सभी ने MMS के बारे में कहीं न कहीं जरूर सुना होगा लेकिन ऐसे बहुत कम लोग हैं जिन्हे इसका फुल फॉर्म पता हो और MMS के बारे में सारी जानकारी मालूम हो।

अगर आप भी mms के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं क्यूंकि आज मैं आपको MMS full form के साथ-साथ इनसे जुड़ी सारी जानकारी बताने वाला हूँ।

इसलिए आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आपको सारी जानकारी अच्छे से पता चल सकें।

MMS Full Form

MMS Ka Full Form (Full Form Of MMS) :-

एमएमएस का फुल फॉर्म “Multimedia Messaging Service” होता है और इसे हिंदी में मल्टीमीडिया संदेश सेवा” कहते हैं।

MMS Full Form In English :-

एमएमएस का फुल फॉर्म इंग्लिश में “Multimedia Messaging Service” होता है।

M – Multimedia

M – Messaging

S – Service

◆ Full Form of MMS is Multimedia Messaging Service.

MMS Full Form In Hindi (MMS In Hindi) :-

एमएमएस का फुल फॉर्म हिंदी में “मल्टीमीडिया संदेश सेवा” होता है।

M – Multimedia (मल्टीमीडिया)

M – Messaging (संदेश)

S – Service (सेवा)

MMS क्या है (MMS Meaning):-

MMS एक messaging सेवा है, जो SMS के तरह ही messages को भेजने और प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करता है। इसकी मदद से टेक्स्ट मैसेज, फोटोज, ऑडियो तथा वीडियोस के फाइल्स को बहुत ही आसानी से आदान-प्रदान किया जा सकता है।

SMS केवल आपको टेक्स्ट मैसेज भेजने की सुविधा प्रदान करती है वहीं MMS आपको टेक्स्ट मैसेज के साथ-साथ फोटोज, ऑडियो तथा वीडियोस के फाइल्स को भी भेजने की सुविधा देती है।

एमएमएस का इस्तेमाल सभी डिवाइस में नहीं किया जा सकता है क्यूंकि यह सभी डिवाइस में सपोर्ट नहीं करता है। इसलिए इसका इस्तेमाल केवल उसी डिवाइस में किया जा सकता है जिसमें यह सपोर्ट करता है।

इसका इस्तेमाल केवल स्मार्टफोन, टेबलेट तथा कंप्यूटर जैसे डिवाइस में ही किया जा सकता है क्यूंकि MMS केवल इन्हीं डिवाइस को ही सपोर्ट करता है।

MMS सेवा का इस्तेमाल आप अपने 2G, 3G तथा 4G सपोर्ट करने वाले फोन में आसानी से कर सकते हैं। जहाँ 4G में इसकी स्पीड बहुत तेज़ होती है वहीं 3G और 2G में स्पीड बहुत काम हो जाती है।

MMS का उपयोग :-

मैंने जैसा की इसके बारे में ऊपर भी बताया है की एमएमएस का इस्तेमाल केवल उसी डिवाइस में कर सकते हैं जिनमे MMS सपोर्ट करता हो।

एमएमएस का इस्तेमाल केवल स्मार्टफोन, टेबलेट तथा कंप्यूटर जैसे डिवाइस में ही किया जा सकता है क्यूंकि यही कुछ ऐसे डिवाइस है जो इनका इस्तेमाल करने में मदद करती है।

एमएमएस का उपयोग टेक्स्ट के साथ-साथ फोटो, वीडियो तथा ऑडियो भेजने के लिए भी किया जाता है।

## इसे भी पढ़े –

◆ ETC का Full Form क्या है?  – Click Here

 SMS का फुल फॉर्म क्या होता है? – Click Here

MMS और SMS में क्या अंतर है :-

SMS और MMS में बहुत ज्यादा अंतर होता है जिन्हे हम एक-एक करके निचे देखने वाले हैं –

  • SMS आपको केवल टेक्स्ट मैसेज भेजने की सुविधा देता है लेकिन MMS टेक्स्ट मैसेज के साथ-साथ फोटो, वीडियो तथा ऑडियो भेजने की भी सुविधा देता है।
  • MMS की मदद से आप एक बार में ही लम्बी-लम्बी मैसेज का आदान-प्रदान कर सकते हैं लेकिन SMS आपको छोटे मैसेज भेजने की सुविधा देता है।
  • SMS सभी डिवाइस में सपोर्ट करता है लेकिन MMS केवल कुछ ही डिवाइस में सपोर्ट करता है।
  • एमएमएस की मदद से आप एक बार में एक साथ कई लोगो को मैसेज आसानी से भेज सकते हैं लेकिन एसएमएस में ऐसा करने से ओवरलोडिंग की समस्या आ सकती है।

MMS के फायदे :-

MMS के फायदे कुछ इस प्रकार से हैं –

  • एमएमएस की मदद से आप बड़े-बड़े फाइल को बहुत ही आसानी से कहीं भी भेज सकते हैं I
  • एमएमएस आपको टेक्स्ट के साथ-साथ फोटो, वीडियो तथा ऑडियो को भेजने की सुविधा देता है I
  • इसकी मदद से आप लम्बे से लम्बे टेक्स्ट लिखकर और साथ ही सभी प्रकार की मीडिया फाइल को भी भेज सकते हैं I
  • MMS किसी भी प्रकार के मैसेज को बहुत तेज़ी से आदान-प्रदान करता है क्यूंकि इसकी ट्रांसमिशन की गति बहुत ही तेज़ है I
  • इसके द्वारा आप एक साथ कई लोगो को मैसेज बहुत ही आसानी से भेज सकते हैं I

## इसे भी पढ़े –

◆ JCB का फुल फॉर्म क्या होता है?  – Click Here

 ATM का Full Form क्या है? – Click Here

MMS के नुकसान :-

MMS से होने वाले नुकसान कुछ इस तरह से हैं –

  • अगर आप इसमें एक साथ ही बहुत सारे मैसेज कई लोगो को भेजते हैं तो इसमें थोड़ा समय लग सकता है I
  • एमएमएस आपको उतना सुरक्षा प्रदान नहीं करवाता है जिस कारण से इसमें कई बार डाटा चोरी होने की संभावना होती है I
  • इसकी ट्रांसमिशन की गति तेज़ होने के कारण कई बार चोरी की गयी दूसरे के डाटा को बहुत तेज़ी से फैलाया जाता है I

निष्कर्ष :

आज के इस post में हमनें MMS के बारे में बहुत कुछ जाना हैं, हमने MMS Full Form, MMS Full Form in hindi, MMS क्या है, MMS meaning, MMS के उपयोगMMS के फायदे और नुकसान, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस article में बताये गए MMS से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और अब आपको MMS के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे MMS से सम्बंधित कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो आप नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस article से कुछ नई जानकारी प्राप्त हुई हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इसी तरह की और जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस ब्लॉग Fullformcollection.com पर हर दिन visit करते रहें।

Leave a Comment