MRI Full Form in Hindi – MRI क्या है और कैसे काम करता है?

Spread the love

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं की MRI ka full form, MRI meaning in hindi, MRI full form in hindi, MRI Kya hai, MRI in hindi, इत्यादि।

आप सभी ने एमआरआई का नाम तो जरूर सुना होगा और आपमें से कई लोगों ने एमआरआई स्कैन करवाया भी होगा लेकिन क्या आप इसके बारे में सब कुछ जानते हैं।

जैसा की आपलोगों को पता होगा की एमआरआई एक मशीन होती है जिसकी मदद से हमारी शरीर की स्कैनिंग की जाती है और यह मशीन बड़ी-बड़ी हॉस्पिटल में मौजूद होती है।

अगर आप भी एमआरआई के बारे से सब कुछ नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं क्यूंकि आज मैं आपको एमआरआई से जुड़ी सारी जानकारी बताने वाला हूँ।

इसलिए आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आपको एमआरआई के बारे में सारी जानकारी अच्छे से पता चल सकें।

MRI Full Form in Hindi

MRI Ka Full Form क्या होता है?

MRI का फुल फॉर्म ‘Magnetic Resonance Imaging‘ होता है।

M – Magnetic

R – Resonance

I – Imaging

MRI Full Form In Hindi

MRI यानी Magnetic Resonance Imaging को हिंदी में ‘चुंबकीय प्रतिध्वनि इमेजिंग‘ बोला जाता है।

MRI क्या है? (MRI Kya Hai) 

MRI एक प्रकार का स्कैनिंग मशीन है जिसकी मदद से हमारे शरीर की अंदर वाले हिस्से को चुंबकीय शक्ति तथा रेडियो किरणों की मदद से बिमारियों का पता लगाया जाता है।

MRI का पूरा नाम Magnetic Resonance Imaging होता है और यह मशीन हमारे शरीर में उपस्थित हाइड्रोजन प्रोट्रोन के जरिये अंदर की तस्वीर कंप्यूटर पर दिखाता है।

एमआरआई टेस्ट बाकि सभी टेस्ट की तुलना में काफी ज्यादा सुरक्षित है क्यूंकि इस मशीन से किसी भी प्रकार का एक्स-रे और रेडिएशन नहीं निकलता है।

यह टेस्ट बिल्कुल सुरक्षित है और इसे दुनिया की बड़ी खोजों में से एक मानी जाती है क्यूंकि इसमें रेडिएशन की जगह मैग्नेटिक फील्ड का प्रयोग किया जाता है।

MRI कैसे काम करता है?

MRI टेस्ट करने से पहले मरीज़ के सारे धातु के चीज़ों को निकालने के लिए कहा जाता है और उसे एक एक पतला से कपड़ा पहनने को बोला जाता है ताकि मरीज़ की जाँच अच्छी तरह से हो सकें।

सबसे पहले मरीज को MRI मशीन के बेड पर लेटने को बोला जाता है और उसके बाद मशीन के अंदर भेजा दिया जाता है। कई लोग यह टेस्ट करवाने से डरते हैं लेकिन अभी तक इसके कोई ज्यादा नुकसान नहीं हुए हैं और ना ही इस मशीन से कोई harmful ray निकलती है।

अब MRI मशीन में उपस्थित चुंबकीय और रेडिओ किरणों की मदद से मरीज़ के शरीर को स्कैन किया जाता है और कंप्यूटर की मदद से मरीज के शरीर की अंदुरुनी अंगो का फोटो लिया जाता है।

जो फोटो कंप्यूटर के द्वारा कैप्चर किये जाते हैं उन्ही फोटो की मदद से डॉक्टर मरीज की परेशानियों का पता लगाते हैं और इसका इलाज बता पाते हैं।

MRI का क्या उपयोग है?

MRI के बहुत सारे उपयोग होते हैं, जिनमें से कुछ उपयोग इस प्रकार हैं –

  • एमआरआई का उपयोग हड्डियों और जोड़ो की जांच करने में की जाती है।
  • इस मशीन का उपयोग दिमाग और रीढ़ की हड्डी जांच करने में किया जाता है।
  • इसका उपयोग ह्रदय और रक्तवाहिकाओं से सबंधित बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है।
  • एमआरआई का उपयोग चोटों या जोड़ों की समस्या का इलाज़ पता लगाने के लिए किया जाता है।
  • शरीर के अलग-अलग हिस्सों में ट्यूमर, अल्सर, और अन्य बिमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है।
  • महिलाओं में होने वाली स्तन कैंसर की बीमारी का पता लगाने के लिए इस एमआरआई मशीन का उपयोग किया जाता है।

MRI स्कैन करवाने से पहले कुछ जरूरी बातें –

  • अगर आप एमआरआई स्कैन करवाने जा रहे हैं तो आपको एक बात ध्यान रखनी चाहिए की आपके शरीर के किसी भी हिस्से में धातु की कोई भी चीजे नहीं होनी चाहिए।
  • अगर आप किसी प्रकार की दवाई का उपयोग कर रहें हैं या फिर किसी भी तरह का ऑपरेशन करवाया है तो इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को जरूर दें।
  • जब भी आप MRI चेक कराने जाए तो अंदर किसी भी प्रकार की धातु का बना कोई भी वस्तु नहीं ले जाय क्यूंकि इससे MRI मशीन धातु को अपनी और आकर्षित करने लगती है।
  • अगर आपको एमआरआई स्कैन करवाने में किसी भी तरह की अपने अंदर डर और घबराहट हो रही है तो इसके बारे में भी आपको डॉक्टर को जरूर बताना चाहिए।

MRI के क्या नुकसान है?

MRI मशीन के फायदे तो बहुत हैं क्यूंकि इससे हमारी गंभीर बीमारी के बारे में पता लगाया जाता है लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं जिससे हमें नुकसान हो सकता है।

  • एमआरआई स्कैनर के भीतर फिट होने में कठिनाई होती है क्योंकि यह एक छोटा और चारो तरफ से घिरा होता है।
  • शरीर में प्रत्यारोपित धातु उपकरणों पर चुंबकीय क्षेत्र का प्रभाव होता है।
  • अगर आपके पास किसी भी प्रकार की धातु की चीज़ें होती हैं तो वो आपको नुकसान पहुंचा सकती है क्यूंकि एमआरआई मशीन में लगे मैगनेट धातु की चीज़ों को अपनी और आकर्षित करता है।

Read Also –

MRI के अन्य फुल फॉर्म –

Short FormFull Form
MRI Full Form in MedicineMonoamine Reuptake Inhibitor
MRI Full Form in Research & DevelopmentMidwest Research Institute
MRI Full Form in Religious OrganizationMaritime Rescue Institute
MRI Full Form in HealthcareMental Research Institute
MRI Full Form in HospitalsManchester Royal Infirmary

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)-

Q. MRI Ka Full Form क्या होता है?

Ans: MRI का फुल फॉर्म ‘Magnetic Resonance Imaging’ होता है।

Q. MRI टेस्ट करने में कितना समय लगता है?

Ans: MRI टेस्ट करने में 5 मिनट से लेकर 1 घंटे तक का समय लगता है।

Q. MRI स्कैन करवाने में कितना खर्च होता है?

Ans: MRI स्कैन करवाने में 4 हजार से लेकर 10 हजार रूपये तक खर्च हो सकती है।

आज आपने क्या सीखा –

आज के इस post में हमनें MRI के बारे में बहुत कुछ जाना हैं, जैसे MRI ka full form, MRI meaning in hindi, MRI full form in hindi, MRI Kya hai, MRI in hindi, इत्यादि।

मुझे उम्मीद है की इस article में बताये गए एमआरआई से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और अब आपको ओटीपीके बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो आप नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस पोस्ट से कुछ नई जानकारी सिखने को मिली हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Comment