OMR Full Form In Hindi – OMR का फुल फॉर्म क्या है?

आज के इस पोस्ट में आप OMR full form, OMR का full form, OMR full form in Hindi, OMR full form in english, OMR क्या है, OMR कैसे काम करता है, इत्यादि के बारे में जानेंगे।

आपने OMR का नाम तो कई बार सुना होगा और आपने कई बार OMR शीट पे एग्जाम भी दिए होंगे लेकिन कहीं भी आपको OMR का फुलफॉर्म देखने को नहीं मिला होगा।

लेकिन अगर आप OMR का फुल फॉर्म जानना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही जगह आये हैं क्यूंकि आज मैं आपको OMR के फुल फॉर्म के साथ-साथ OMR से जुड़ी सारी सारी जानकारी देने वाला हूँ।

आज के समय में लगभग हर चीज़ के फॉर्म OMR के आधार पे हो गयी है और सभी वस्तुनिष्ठ प्रश्न वाले exam भी OMR पे ही होने लगी है।

इसलिए आपको OMR के बारे में सब-कुछ जरूर जान लेना चाहिए ताकि आगे चलकर आपको OMR से संबंधित कोई समस्या ना हो।

तो चलिए अब जानते हैं की OMR की फुल फॉर्म क्या है, OMR क्या है, और OMR से संबंधित सारी जानकारियाँ।

OMR Full Form

OMR Ka Full Form (ओएमआर का फुल फॉर्म):-

ओएमआर का फुल फार्म “Optical Mark Reading है। OMR को हिंदी में “ऑप्टिकल मार्क मान्यता” कहा जाता है।

OMR Full Form In English :-

OMR का full form “Optical Mark Reading” और “Optical  mark  recognition” होता है।

O – Optical

M – Mark

R – Reading or recognition

OMR FUll Form In Hindi :-

आपलोगों ने OMR का फुल फॉर्म english में तो जान लिया, चलिए अब इसका फुल फॉर्म हिंदी में भी जान लेते हैं।

हिंदी में OMR को “ऑप्टिकल मार्क मान्यता” के नाम से जाना जाता है।

O – Optical (ऑप्टिकल)

M – Mark (मार्क)

R – Reading or recognition (मान्यता)

OMR क्या है ?

OMR एक प्रकार की ऑप्टिकल स्कैनर होती है जिसका इस्तेमाल पेन या पेंसिल द्वारा बनाये गए निशानों को पहचानने के लिए किया जाता है।

आपने कई बार ओएमआर शीट पर एग्जाम दिया ही होगा जहां पे आपको एक प्रश्न के उत्तर के लिए चार गोले बने होते हैं और उनमे से ही किसी एक गोला को भरना होता है।

OMR का काम इसी चार में से एक भरा हुआ गोला को पहचान कर सही उत्तर का पता लगाना होता है और आगे का प्रोसेस करना होता है।

जब से OMR वाली सिस्टम आयी है तब से OMR शीट को चेक करना बहुत ही आसान हो चुकी है क्यूंकि इसकी मदद से 1 घंटे में लगभग 10,000 OMR शीट को चेक किया जाता है।

OMR शीट का इस्तेमाल आज के समय में बहुत जगह देखने को मिल जाता है जैसे : Exam, Feedback Form, Surveys, Evaluation, और इनके अलावा भी बहुत जगह इस्तेमाल किया जाता है।

अब आपको अच्छे से पता चल गया होगा की OMR क्या है तो अब जानते है की OMR कैसे काम करता है

OMR कैसे काम करता है :-

OMR यानी की ऑप्टिकल मार्क रीडर एक विशेष प्रकार का स्कैनर होता हैं जिसका इस्तेमाल आमतौर पर OMR sheet के चिन्ह या मार्क्स को पहचानने के लिए किया गया है।

आप सभी ने अक्सर विभिन्न प्रकार की Compettion Examinations में OMR शीट पर एग्जाम दिया ही होगा, और उसमें आपको गोले को भरने होते है।

यह जो OMR शीट है, उसे OMR scanner में डाला जाता है और यह scanner एक Laser light OMR सीट पर डालता है और केवल उन काले घेरे वाले निशानों को स्कैन करता है, जिसे आपने भरा होता है।

OMR का काम करने का तरीका कुछ इस प्रकार है जैसे जहाँ-जहाँ पर आपने OMR शीट में गोलों को पूरा काला किया गया होता है वहां से Laser की मात्रा कम वापस आती है, जिस वजह से आपके जवाबों को सुविकार किया जाता है।

और जहाँ-जहाँ गोलोंं को काला नहीं किया गया होता है वहां से Laser की मात्रा ज्यादा वापस आती है तो OMR स्कैन को पता चल जाता है की यह जगह खाली है।

यही वह तरीका हैं जिससे Scanner आपके दिए गए जवाबों को पहचान लेता है और बहुत ही कम समय में ही OMR शीट की जाँच कर लेता है।

OMR Sheet को कैसे भरा जाता है :-

  • ओएमआर शीट के गोले को पूरी तरह से डार्क करके भरना होता है ताकि ओएमआर शीट को जाँच करने वाली मशीन अच्छे से चेक कर पाए.
  • इस ओएमआर शीट में आपको केवल गोले को भरना है, और और इसके अलावा ओएमआर शीट पे कुछ भी ना भरे.
  • आपको ओएमआर शीट के गोले को पूरा भरना है अगर आप आधा-अधूरा भरते हैं तो आपका जवाब स्वीकार नहीं किया जाएगा क्यूंकि मशीन इसे रीड नहीं कर पायेगा.
  • आपको ओएमआर शीट के गोले भरते वक़्त विशेषकर ध्यान रखना होगा की आप गोले के अंदर वाले हिस्से को ही भरे और इसे बिलकुल भी बाहर ना आने दें.

आप ऊपर बताये गए तरीकों को पालन करके अपने OMR sheet को बहुत ही आसानी से भर सकते हैं।

##इसे भी जरूर पढ़े :-

OMR के Applications :-

OMR के Applications कुछ इस प्रकार है :-

  • Examinations

  • Surveys

  • Election

  • Banking and Insurance Applications

  • Evaluation and Feedback Form

इसके अलावा और भी Applications होते हैं।

OMR के फायदे और नुकसान :-

  • OMR sheet scanner का सबसे बड़ा फायदा है कि यह 1 घंटे में लगभग 10000 OMR शीट को चेक कर सकता है, जिसकी वजह से कम समय में ही ज्यादा से ज्यादा काम हो पाता है. 
  • जब आप कीबोर्ड से कोई डाटा एंटर करते हैं तो गलती होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है, लेकिन जब आप ऑप्टिकल मार्क रीडर से डाटा एंटर करते हैं तो गलती होने की संभावना काफी कम हो जाती है।
  • ओएमआर शीट को ध्यानपूर्वक और अच्छे से भरना जरूरी है क्योंकि अगर OMR शीट के गोले को ठीक से नहीं भरा गया है तो ऑप्टिकल मार्क रीडर उस डेटा को जाँच नहीं कर पाएगा।
  • OMR का एक सबसे बड़ा नुकसान है की यह केवल उन्ही डाटा को चेक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है जिसमे एक से अधिक options का चुनाव करना हो यानी की अगर आप केवल सिंगल डाटा को चेक करवाना चाहते हैं तो आप OMR का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं.

निष्कर्ष :-

आज के इस article में हमनें OMR के बारे में बहुत कुछ जाना हैं, हमने OMR का Full Form क्या है,OMR क्या हैOMR का इस्तेमाल कैसे करते हैं, OMR इस्तेमाल करने के क्या फायदे और नुकसान हैं, इत्यादि के बारे में बात किया हैं।

मुझे उम्मीद है की इस article में बताये गए OMR से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और आपको OMR के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे OMR से सम्बंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे comment सेक्शन में पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस post से कुछ नई जानकारी मिली हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इसी तरह की और जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस ब्लॉग Fullformcollection.com पर हर दिन visit करते रहें।

2 thoughts on “OMR Full Form In Hindi – OMR का फुल फॉर्म क्या है?”

Leave a Comment