Selfie Meaning in Hindi – Selfie का मतलब क्या होता है?

Spread the love

आज के समय सेल्फी कई सारे लोगों के लिए एक क्रेज सा बन गया है और आपमें से भी कई लोग हर दिन सेल्फी लेते होंगे और उसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करते होंगे लेकिन क्या आप Selfie Meaning in Hindi का मतलब जानते हैं?

आज हर कोई अपनी सेल्फी ले रहा है और उसे अलग अलग जगहों पर शेयर भी किया जा रहा है। आज के समय बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी सेल्फी लेते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा सेल्फी युवाओं के द्वारा ली जा रही है।

अगर आपको भी नहीं पता है की Selfie Meaning in Hindi का मतलब क्या होता है और सेल्फी क्या होता है और इसका इतिहास क्या है तो आप सही पोस्ट पर आए हैं।

आज के इस आर्टिकल में आपको सेल्फी से रिलेटेड बहुत कुछ जानकारी मिलने वाली है, आप जानेंगे की Selfie का मतलब हिंदी में क्या होता है और सेल्फी कौन लेता है और क्यों लेता है।

अगर आप इस Selfie का मतलब जानने के लिए हमारे ब्लॉग पर आए हैं तो आप हमारे द्वारा लिखे इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए ताकि आप भी इस सेल्फी का मतलब सब कुछ हिंदी में जान सकें।

Selfie Meaning in Hindi

Selfie Full Form in Hindi –

Selfie का फुल फॉर्म ‘Self-Portrait’ होता है और इसे हिंदी में सेल्फ- पोर्ट्रेट फोटोग्राफ के नाम से जाना जाता है। सेल्फी आम तौर पर स्‍मार्टफोन के फ्रंट कैमेरा से लिया जाता है।

Selfie Meaning in Hindi –

सेल्फी का मतलब हिंदी में सेल्फ- पोर्ट्रेट होता है यानी की खुद के द्वारा ली गयी फोटो जिसे आपने अपने मोबाइल या किसी और कैमरा के द्वारा ली गयी हो।

Selfie क्या है? (Selfie kya hai)

सेल्फी एक प्रकार का फोटो लेने का तरीका है जिसे अपने मोबाइल या किसी कैमरा से अपनी फोटो खुद लिया जाता हैं। सेल्फी लेने के लिए मोबाइल का फ्रंट कैमरा का इस्तेमाल किया जाता है।

आज के समय सेल्फी का क्रेज हमारे युथ के ऊपर एक अलग ही लेवल का है और आने वाले समय में सेल्फी का क्रेज और भी काफी ज्यादा बढ़ने वाला है।

सेल्फी ज्यादातर युथ के द्वारा ली जाती है क्यूंकि वे लोग अपनी सेल्फी लेकर सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफार्म पर अपनी फोटो शेयर करते हैं।

आज हर जगह और हर सेलिब्रेशन में सेल्फी ली जाती है और युथ के साथ साथ बच्चें और बूढ़े लोग भी सेल्फी लेने के मामले में पीछे नहीं हटते हैं।

एक रिसर्च के अनुसार पाया गया है की दिनभर में एवरेज 1 व्यक्ति द्वारा 5 सेल्फी लिया जाता है। ऐसे व्यक्ति जो हर दिन ज्यादा संख्या में सेल्फी लेता है उसे “सेल्फाइटिस” का नाम दिया गया है और मनोवैज्ञानिकों द्वारा इसे वास्तविक मानसिक स्थिति माना जाता है।

Selfie का इतिहास क्या है?

सेल्फी की शुरुआत साल 1839 में रॉबर्ट कुरनेलियस के द्वारा की गयी थी क्यूंकि इन्होने ही सबसे पहली सेल्फी ली थी। यह वो समय था जब कोई कैमरा के बारे में सोच भी नहीं सकता था।

साल 1914 में, रूस के ग्रांड डचेस अनास्तासिया निकोलाव्ना ने एक मिरर के सामने खुद कि फोटो लिया और उस फोटो को अपने मित्र को भेजा और वह अपनी खुद की फोटो लेने वाले पहले किशोरों में से एक थे।

इसी तरह से फोटोग्राफर ने साल 1920 में कैमरे को अपने हाथों में पकड़कर पहली फोटो लिया और उनमे फोटो लेने वाले में 5 पुरुष शामिल थे।

साल 1970 के दशक में इंस्टेंट कैमरा आने लग गए थे और ये सभी कैमरा सस्ते मिलने लग गए थे, तो उसने फोटोग्राफरों को अधिक सेल्फ-पोर्ट्रेट लेने के लिए प्रोत्साहित किया।

आम लोगों के लिए जब स्मार्टफोन आना शुरू हुआ तो कैमरे की पहुंच आसान हो गई। साल 2003 में सोनी एरिक्सन का Z1010 मोबाइल फोन लान्‍च हुआ, जो फ्रंट-फेस कैमरा के साथ था।

साल 2015 में, सेल्फी स्टिक का आविष्कार किया गया, जिससे सेल्फी लेना आसान हो और साथ ही सेल्फी में एक अलावा और भी लोग शामिल होकर फोटो ले सकें।

आज के समय तो आपलोगों को पता ही होगा की कैसे सभी के ऊपर सेल्फी का क्रेज बना हुआ और आज हर जगह और सभी उम्र के लोग सेल्फी ले रहे हैं और उसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर कर रहे हैं।

Selfie कौन लेता है?

सेल्फी कोई भी ले सकता है जिसके पास स्मार्टफोन हो या फिर कोई कैमरा हो, आज-कल तो बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी सेल्फी लेते हैं लेकिन ज्यादातर सेल्फी यूथ लड़को और लड़कियों के द्वारा लिया जाता है।

सेल्फी लेने का अधिकार सबका है जिसे भी अपनी फोटो को सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करनी है वे सभी सल्फी ले सकते हैं।

आज के समय तो हर पर्व-त्योहार में सेल्फी लिया जाता है या फिर किसी चीज़ की सेलिब्रेशन हो रही हो तो उसमें भी लोग सेल्फी लेते हैं।

अगर आपको सेल्फी लेनी है तो आप किसी भी स्टाइल में अपनी सेल्फी ले सकते हैं या फिर अलग-अलग पोज़ बनाकर भी सेल्फी ले सकते हैं। आप चाहे तो सेल्फी स्टिक की मदद से भी सेल्फी ले सकते हैं।

Selfie क्यों लेते हैं?

जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया है की सेल्फी का मतलब अपनी फोटो खुद से लेना होता है। अब बात आती है आखिर लोग सेल्फी लेते क्यों हैं तो इसका कोई एक जवाब नहीं हो सकता क्यूंकि सबका अलग-अलग उद्देश्य होता है।

सेल्फी लेने का उद्देश्य सभी लोगों के अलग अलग होते हैं जैसे कोई अपनी पुरानी यादों के लिए लेता है तो कोई सोशल मीडिया पर शेयर करने के लिए या फिर कई तो दिखावा करने के लिए नहीं लेते हैं।

सेल्फी लेने का उद्देश्य एक ही आदमी का कई बार अलग-अलग होता है, जैसे – कभी दूसरे वयक्ति का ध्यान अपने ऊपर आकर्षित करने के लिए, कभी पुरानी यादें संजोने के लिए और कभी-कभी अपनी इमेज शेयर करने के लिए भी लिया जाता है।

FAQs: What is Selfie in Hindi

Q: सबसे पहली सेल्फी किस वर्ष लिया गया था?

Ans: सबसे पहली सेल्फी वर्ष 1839 में लिया गया था।

Q: सबसे पहली सेल्फी किसने लिया था?

Ans: सबसे पहली सेल्फी रॉबर्ट कॉर्नेलियस ने लिया था।

Q: सेल्फी को किसने लोकप्रिय बनाया?

Ans: सेल्फी को जापान और अन्य पूर्वी एशियाई देशों के द्वारा लोकप्रिय बनाया गया।

Q: राष्ट्रीय सेल्फी दिवस कब मनाया जाता है?

Ans: राष्ट्रीय सेल्फी दिवस हर साल 21 जून, 2020 को मनाया जाता है।

Q: एक दिन में युथ कितनी सेल्फी लेते हैं?

Ans: एक रिसर्च के अनुसार पाया गया है की दिनभर में युथ एवरेज 5 सेल्फी लेते हैं।

Read Also –

आज आपने क्या सीखा –

आज के इस आर्टिकल में हमनें selfie meaning in hindi, selfie in hindi, selfie kya hai, selfie ka matlab, Selfie का इतिहास, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बताए गए सभी जानकारी आपको अच्छे लगे होंगे और अब आपको selfie meaning in hindi का मतलब पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको इस आर्टिकल से कुछ नई जानकारी प्राप्त हुई हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

इसी तरह की और जानकारियाँ पाने के लिए हमारे इस ब्लॉग Fullformcollection.com पर visit करते रहें।


Spread the love

Leave a Comment

जानिए Kendriya Vidyalaya (KVS) के बारे में सभी जानकारी SSC CGL Exam 2022: देखें SSC CGL टियर 1 एग्जाम की डेट … Bhediya Total Box Office Collection जानिए Artificial Intelligence(AI) के बारे में पूरी जानकारी जानिए CA कैसे बने और पूरी जानकारी