CID का पूरा नाम ‘Crime Investigation Department‘ होता है।

CID को हिंदी में ‘अपराध जांच विभाग‘ के नाम से जाना जाता है।

सीआईडी भारतीय राज्य पुलिस की एक जांच और खुफिया ब्रांच होती है और सारा काम राज्य सरकार और हाई कोर्ट द्वारा सौंपा जाता है।

CID की स्थापना ब्रिटिश सरकार के द्वारा साल 1902 में पुलिस आयोग की सिफारिश पर की गयी थी।

CID राज्यों में होने वाले आपराधिक मामलों जैसे दंगा, हत्या, अपहरण, और हमले के मामलों में जांच करती है।

सीआईडी के प्रमुख Additional Director General of Police (ADGP) होते हैं।

सीआईडी अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार की उम्र 20 वर्ष से 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

सीआईडी अधिकारियों की औसतन सैलरी 70 हज़ार से लेकर 1 लाख 50 हज़ार रूपये के बीच होता है।

CID के बारे में और भी जानकारी विस्तार से जानने के लिए निचे क्लिक करें।