इस साल कृष्ण जन्माष्टमी 18 और 19 अगस्त दो दिन पुरे धूम धाम से मनाई जा रही है।

जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण के जन्मदिन को पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

जन्माष्टमी का त्योहार हिंदू कैलेंडर के अनुसार कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाती है।

पौराणिक मान्यता के अनुसार इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में अर्धरात्रि में हुआ था।

इस बार अष्टमी तिथि 18 अगस्त रात्रि 09:21 पर शुरू होगा और 19 अगस्त रात्रि 10:59 को समाप्त होगा।

जन्माष्टमी पूजन में भगवन को माखन-मिश्री, धनिया पंजीरी, मखाना, पंचामृत, लडड्, खीर, आदि चीजों को जरूर चढ़ाना चहिए।

जन्माष्टमी पूजन के समय हरे कृष्ण, हरे कृष्ण, कृष्ण कृष्ण, हरे हरे, हरे राम, हरे राम, राम राम, हरे हरे मंत्र का जाप करें।

कृष्ण जन्माष्टमी का सबसे बड़ा महोत्सव मथुरा में मनाया जाता है क्यूंकि ये भगवान कृष्ण का जन्म स्थल है।

अगर आप ऐसे ही और भी स्टोरीज देखना चाहते हैं तो निचे क्लिक करें।