यूजीसी नेट भारत की एक राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा हैं और ये परीक्षा देने के लिए पहले आपको अपना मास्टर डिग्री पूरा करना होता है।

UGC Net में UGC का पूरा नाम University Grants Commission और  NET का पूरा नाम National Eligibility Test होता है। 

University Grants Commission को हिंदी में 'विश्वविद्यालय अनुदान आयोग' और National Eligibility Test को 'राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा बोला' जाता है।

UGC की स्थापना सन 1955 में की गई थी और इस यूजीसी नेट एग्जाम को National Testing Agency के द्वारा आयोजित की जाती है।

इस के लिए 94 विषय शामिल किए गए हैं और आपने जिस विषय से मास्टर डिग्री किया है उसी विषय से पीएचडी करने के लिए नेट की परीक्षा दे सकते हैं।

UGC NET एग्जाम के लिए आपके मास्टर डिग्री कोर्स में कम से कम 55 प्रतिशत मार्क्स होने चाहिए।

यूजीसी नेट का एग्जाम हर साल 2 बार होती है एक जून महीने में और दूसरी परीक्षा दिसंबर महीने में होती है।

UGC NET में आपकों दो चरण में एग्जाम देने होते हैं जिनमे पहला पेपर 100 नंबर और दूसरा 200 नंबर का होता है।

इस परीक्षा में पास करने के बाद आप पीएचडी कर सकते हैं और कई बड़े-बड़े विश्वविद्यालय में पढ़ा सकते हैं।